उद्योग एवं मेडिकल कॉलेज की घोषणा न करने पर निराशा

/संजय गुप्ता, समय जगत ब्यूरो राजगढ़ / जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना के प्रमाण पत्र वितरित करने रविवार को राजगढ़ जिला मुख्यालय पर स्टेडियम परिसर में पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कल यहां लगभग 69000 किसानों को 164 करोड़ रुपए के फसल ऋण माफी के प्रमाण पत्र वितरित करने का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मोहनपुरा एवं कुंडालिया डैम से ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 750 करोड़ रुपए की ग्रामीण समूह जल प्रदाय नल जल योजना का शिलान्यास किया इस योजना से जिले की राजगढ़ खिलचीपुर एवं सारंगपुर विधानसभा के सैकड़ों गांव के ग्रामीणों को नल से पेयजल उपलब्ध होगा, वही मोहनपुरा डैम से प्रेशराइज्ड पाइप ड्रिप सिस्टम सिंचाई वितरण प्रणाली का भूमि पूजन भी किया ।वही नाथ ने सुठालिया तहसील कि 50 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि को सिंचित करने के लिए 1500 करोड़ की लघु सिंचाई परियोजना का टेंडर भी जारी किया। करीब 2 घंटे विलंब से पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ से पहले स्टेडियम में मौजूद 20,000 से अधिक किसानों एवं नागरिकों को प्रभारी एवं नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह, ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह, कृषि मंत्री सचिन पटेल, ब्यावरा विधायक गोवर्धन दांगी सहित राजगढ़ विधायक बापू सिंह तंवर ने संबोधित किया तथा लोकसभा के के दोनों मंत्री जिले के विधायक जिला अध्यक्ष नारायण सिंह एवं कांग्रेस नेताओं ने एक स्वर में जिले में एक मेडिकल कॉलेज एवं करीब 50 हजार लोगों को रोजगार मिल सके ऐसा उद्योग लगाने की मांग रखी, साथ ही विधायक बापू सिंह ने इलाज के लिए जिले के लोगों को राजस्थान जाने की बात बताई तथा पिछड़ा क्षेत्र होने के कारण 50,000 से अधिक लोगों के रोजगार के लिए पलायन की बात कहते हुए मेडिकल कॉलेज एवं उद्योग खोलने पर जोर देते हुए जिले में राहत कार्य चलाए जाने, नया बाईपास रोड स्वीकृत करने तथा ग्रामीण क्षेत्र से शिक्षा ग्रहण करने आने वाले छात्रों के लिए एक हॉस्टल बनाने की मांग की। इसके बावजूद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने घोषणा में विश्वास न कर काम करने की बात कहते हुए घोषणा वीर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं देश की सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा तथा जिले की जनता को निराश किया। किसान सम्मेलन में शामिल होने आए मुख्यमंत्री के लिए स्टेडियम परिसर में भोपाल से स्पेशल टेंट लगाया गया साथ ही जनता की सुविधा के लिए 8 बड़े एलइडी प्रोजेक्टर लगाए गए बावजूद इसके कुर्सियां कम पड़ गई और लोग स्टेडियम की सीढिय़ों पर बैठे नजर आए, कार्यक्रम समाप्त होने पर निराश किसानों की भीड़ मैदान के आसपास एवं बाहर लगे कमल नाथ के बैनर पोस्टर उठा कर ले गए। वही मुख्यमंत्री के आगमन से पहले 2 घंटे व मुख्यमंत्री के जाने के बाद करीब 1 घंटे बिजली गुल रही।

LEAVE A REPLY