AnyDesk ऐप आपसे डाटा एक्सेस की परमिशन मांगता है. एक्सेस मिलते ही आपके अकाउंटक की जानकारी शेयर हो जाती है.

नई दिल्ली: टेक्नोलॉजी की वजह से चीजें आसान तो हो गई हैं, लेकिन इससे खतरा भी बढ़ा है. UPI (यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस) के जरिए आसानी से ट्रांजैक्शन किया जाता है. लेकिन, RBI को लगातार शिकायत मिल रही थी कि इसके जरिए फ्रॉड किया जा रहा है. शिकायतों पर गौर करने के बाद रिजर्व बैंक ने 14 फरवरी को एक चेतावनी जारी किया है. इसमें कहा गया किसी भी सूरत में यूजर्स “AnyDesk” मोबाइल ऐप को डाउनलोड नहीं करें. अगर आपने इस ऐप को डाउनलोड किया तो हैकर्स आपके अकाउंट तक पहुंच सकते हैं और आपका अकाउंट मिनटों में खाली किया जा सकता है.

बता दें, अगर गलती से डाउनलोड ऑप्शन पर क्लिक भी हो जाता है तो यह आपसे डाटा एक्सेस की परमिशन मांगता है. डाटा एक्सेस देने के बाद हैकर्स के पास आपकी पूरी जानकारी मिल जाती है. बता दें, यह ऐप रिमोट कंट्रोल जैसा है जिसका इस्तेमाल कई डिवाइस को जोड़ने के लिए किया जाता है.

RBI warns against AnyDesk

ऐसे फ्रॉड करता है AnyDesk
एक बार डाउनलोड करने के बाद AnyDesk यूजर के डिवाइस पर 9 अंकों का ऐप कोड जेनरेट करता है और साइबर अपराधी कॉल कर यूजर से वह कोड बैंक के नाम पर मांगते हैं. एक बार यह कोड मिलने के बाद हैकर यूजर की डिवाइस में सेंध लगाता है और बिना उसके जाने उसके डिवाइस की सारी जानकारी डाउनलोड कर सकता है और लेनदेन कर सकता है.

LEAVE A REPLY