मिताली राज ने अपनी पिछली चार इंटरनेशनल पारियों में तीन में अर्धशतक लगाए हैं. इनमें दो टी20 अर्धशतक शामिल हैं.

नई दिल्ली: भारतीय पुरुष टीम की तरह महिला क्रिकेट टीम भी इन दिनों न्यूजीलैंड दौरे पर है. दोनों ही टीमों ने वनडे सीरीज जीतकर इतिहास रचा. लेकिन टी20 सीरीज में हालात बदले-बदले नजर आ रहे हैं. पुरुष टीम रोहित शर्मा की कप्तानी में एक मैच जीतकर टी20 सीरीज में बराबरी पर है. महिला टीम हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में टी20 सीरीज गंवा चुकी है. वह सीरीज के पहले दोनों मैच हार चुकी है. इसके बाद यह सवाल उठ रहे हैं कि महिला टीम में मिताली राज क्यों नहीं है, जिन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को वनडे सीरीज में जीत दिलाई थी.

दरअसल, मिताली राज वनडे टीम की कप्तान हैं. जबकि, टी20 टीम की कमान हरमनप्रीत कौर संभालती हैं. अगर यह सिर्फ टीम की अलग-अलग कप्तानी का मसला होता तो ज्यादा गंभीर बात नहीं होता. जो लोग महिला क्रिकेट पर बारीकी से नजर रखते हैं, वे जानते हैं कि भारतीय टीम इन दोनों खिलाड़ियों के दो गुटों में बंटी हुई है, जिससे टीम का प्रदर्शन भी प्रभावित हो रहा है. यही कारण है कि टीम के प्रशंसकों के लिए यह हार ज्यादा दुखदायी है. कई प्रशंसक चाहते हैं कि टी20 की प्लेइंग इलेवन में मिताली राज को जगह मिले क्योंकि वे 14 सदस्यीय टीम में शामिल हैं. हालांकि, यह अभी आसान नहीं लगता.

 

भारत और न्यूजीलैंड की महिला टीमें अब रविवार (10 फरवरी) को तीसरे टी20 मुकाबले में आमने-सामने होंगी. यह मुकाबला सुबह 8.30 बजे से खेला जाएगा. भारतीय टीम यह मैच जीतकर सीरीज में अपनी हार का अंतर कम करना चाहेगी. दूसरी ओर, न्यूजीलैंड की कोशिश क्लीन स्वीप करने की होगी. भारतीय पुरुष टीम भी इसी दिन अपने दौरे का आखिरी मैच खेलेगी. पुरुष टीमों में जो भी तीसरा मैच जीतेगी, वह सीरीज 2-1 से अपने नाम कर लेगी.

harman
हरमनप्रीत कौर और मिताली राज. 

 

भारतीय महिला टीम की हार पर नजर डालें तो टीम की बल्लेबाजी कमजोर कड़ी साबित हो रही है. भारतीय टीम पहले टी20 मैच में न्यूजीलैंड के 159 रन के जवाब में 136 रन पर सिमट गई थी. तब पूरी टीम पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल पाई थी. दूसरे मैच में भारतीय टीम 6 विकेट पर 135 रन ही बना पाई. हालांकि, गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए इस मैच को आखिरी गेंद तक खींच लिया, लेकिन वे हार नहीं टाल सकीं.

 

टीम की बल्लेबाजी और न्यूजीलैंड के हालात को देखते हुए मिताली राज टीम के लिए उपयोगी साबित हो सकती हैं. उनका खेल विस्फोटक ना होकर, भरोसेमंद है. वे पहले अपनी पारी जमाती हैं और आखिर के कुछ ओवरों में ही बड़े शॉट्स खेलती हैं. न्यूजीलैंड में शुरुआती ओवरों में टिककर खेलने की जरूरत होती है. ऐसे में मिताली राज का खेल टीम के लिए फायदेमंद हो सकता है. मिताली ने अपनी पिछली चार पारियों में तीन अर्धशतक लगाए हैं.

Mithali Raj IANS
मिताली राज.

भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने दूसरे मैच में हार के बाद कहा, ‘मैं इस हार से चिंतित नहीं हूं. हम यहां अच्छी क्रिकेट खेलने आए थे और हमने खेला. भले ही हम सीरीज ना जीत पाए हो लेकिन कुल मिलाकर यह एक अच्छा मैच रहा और खिलाड़ियों को बहुत कुछ सीखने को मिला.’ वनडे सीरीज से तुलना करने पर हरमन ने कहा, ‘वनडे पूरी तरह से अलग है. वहां पर आप वापसी कर सकते हैं. टी20 छोटा प्रारूप है. इसमें सोचने के लिए आपके बहुत कम समय होता है.’

 

हरमनप्रीत कौर के बयान से लगता है कि वे ऐसी टीम बना रही हैं, जिसमें सीनियरों के लिए ज्यादा जगह नहीं है. मिताली राज की उम्र 36 साल है. ऐसे में वे शायद ही हरमन की टीम में फिट हों. हरमन ने कहा, ‘हम पूरी तरह से एक युवा टीम हैं. टीम में बहुत कम खिलाड़ी है जिन्होंने 30 से अधिक मैच खेले हैं. अधिकांश खिलाड़ियों ने 10 से कम टी-20 खेले हैं. लिहाजा हमें न्यूजीलैंड से सीरीज खेलकर काफी कुछ सीखने को मिला है.’

कोच को लेकर आमने-सामने आ गई थीं मिताली और हरमन
मिताली राज और हरमनप्रीत कौर हाल ही में टीम के कोच रमेश पोवार के मामले में आमने-सामने आ गई थीं. हरमनप्रीत हर हाल में पोवार को टीम का कोच बनाए जाने के पक्ष में थीं. वहीं, मिताली ने कहा था कि पोवार ने उन्हें महिला वर्ल्ड कप के दौरान जानबूझकर टीम से बाहर कराया. मिताली ने यह भी कहा था कि पोवार उन्हें नीचा दिखाते हैं और अपमानित करते हैं. इत्तफाक से उसी समय पोवार के कार्यकाल का आखिरी समय चल रहा था. हरमनप्रीत कौर चाहती थीं कि पोवार का कार्यकाल बढ़ाया जाए. लेकिन मिताली राज के ‘अपमान’ का मामला सामने आने के बाद पोवार के मौके भी चले गए. इसके बाद टेस्ट क्रिकेटर डब्ल्यूवी रमन महिला टीम के नए कोच बनाए गए.

LEAVE A REPLY