अगर आप भी जरूरत से ज्यादा सोते हैं तो सावधान हो जाएं, क्योंकि आपकी ये आदत आपकी सेहत और जीवन को खतरे में डाल सकती है.

ठंड का कहर जारी है. ठंड के मौसम में हम में से अधिकतर लोग अपना ज्यादातर समय रजाई में ही गुजारना चाहते हैं. कई लोगों को लगता है कि रजाई में रहकर अधिक समय तक सोने से वो खुद को ठंड लगने और बीमार होने से सुरक्षित रख सकेंगे. लेकिन हाल ही में हुई एक स्टडी ने इस बात को गलत साबित किया है.

यूरोपियन हार्ट जर्नल में प्रकाशित स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, 6 या 8 घंटे से ज्यादा समय तक सोने से दिल की बीमारी होने के साथ-साथ जल्दी मौत होने का खतरा भी बढ़ता है. हालांकि, स्टडी की रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भरपूर नींद अच्छी सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है. लेकिन जरूरत से ज्यादा सोने से सेहत को नुकसान पहुंचता है. दरअसल, नींद व्यक्ति की सेहत को गंभीर रूप से प्रभावित करती है. कई स्टडी की रिपोर्ट में भी ये बात साबित हो चुकी है कि जरूरत से ज्यादा सोने से दिल की बीमारी के साथ समय से पहले मौत होने का खतरा भी बढ़ जाता है.

स्टडी के दौरान शोधकर्ताओं की टीम ने 21 अलग-अलग आय के देशों के 1,16,632 लोगों के स्लीप डेटा की जांच की. इनमें 4 अधिक आय वाले देश जैसे- कनाडा, स्वीडन, सऊदी अरब औरयूनाइटेड अरब इमायरेट्स, 12 मध्य आय के देश, जिनमें, अर्जेंटीना, ब्राजील, चिली, चीन, कोलंबिया, ईरान, मलेशिया, पैलेस्तीन, फिलीपींस, पोलैंड, साउथ अफ्रीका और तुर्की शामिल हैं. इसके अलावा स्टडी में 5 कम आय वाले देश- बांग्लादेश, भारत, पाकिस्तान, तंजानिया और जिम्बाब्वे के लोगों को भी शामिल किया गया.

स्टडी में शामिल सभी देशों के लोगों से उनकी आर्थिक स्थिति, लाइफस्टाइल, सोने का समय, स्मोकिंग, अल्कोहल, फिजिकल एक्टिविटी, डाइट और बीमारी से संबंधी सवाल पूछे.

नतीजों में सामने आया कि जो लोग रोजाना 8 घंटे से ज्यादा की नींद लेते हैं, उनमें हार्ट अटैक और स्ट्रोक होने का खतरा अधिक होता है. साथ ही ऐसे लोगों में जल्दी मौत होने का खतरा भी 41 फीसदी तक बढ़ जाता है. स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, व्यक्ति को सिर्फ 6 से 8 घंटे तक ही सोना चाहिए.

LEAVE A REPLY