अक्सर कई लोग इस बात से परेशान रहते हैं कि बिना कुछ खाए ही उनका वजन बढ़ता रहता है. जबकि, कुछ लोग कितना भी खालें उनके वजन पर कोई फर्क नहीं पड़ता है. आइए जानते है इसकी अहम वजह क्या है…

अक्सर आपने देखा होगा कि कई लोग वजन बढ़ने के डर से जंक फूड खाना तो दूर, बल्कि उसे देखने से भी डरते हैं. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो कितनी भी अनहेल्दी चीजें खा लें, लेकिन उनका वजन बढ़ता नहीं है. क्या कभी आपने सोचा है कि कुछ लोगों का वजन बिना अनहेल्दी चीजें खाएं ही बढ़ने लगता है, तो वहीं कुछ लोग सब कुछ खाकर भी बिल्कुल स्लिम कैसे रहते हैं? अगर नहीं तो अब जान जाएंगे.

दरअसल, हाल ही में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि जो लोग बिना कुछ मेहनत किए ही स्लिम रहते हैं, उसके लिए उनकी जींस (genes) जिम्मेदार होती हैं. यह स्टडी यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज के शोधकर्ताओं द्वारा की गई है. स्टडी के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि कुछ लोगों में जींस की सीरिज मौजूद होती है, जो उनके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाती हैं या फिर शरीर के फैट को तेजी से कम करती हैं.

स्टडी के दौरान ये जींस लगभग 1,600 हेल्दी और स्लिम लोगों में पाई गईं. हालांकि, कुछ लोगों में इन जींस के होने से उनकी खाने में दिलचस्पी कम देखी गई. ऐसे लोगों का पतले होने का यह भी एक कारण है.

वहीं, स्टडी में शामिल 40 फीसदी पतले लोगों ने बताया कि उन्हें खाने का बहुत शौक है. उनका जो मन करता वे सब कुछ खाते हैं, फिर भी उनका वजन नहीं बढ़ता है. शोधकर्ताओं का मानना है कि कुछ लोगों में खास तरह की जींस होती हैं. इन जींस की जांच करने के लिए उन्हें स्टडी करनी होगी, जिसके माध्यम से वे पता लगा पाएंगे कि ज्यादा खाने के बाद उनका शरीर किस तरह से काम करता है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, इस स्टडी की मदद से वे ऐसी दवाई की खोज कर सकेंगे, जिससे मोटे लोग अपने वजन को कंट्रोल में रख सकेंगे.

स्टडी के सीनियर लेखक प्रोफेसर सदफ फारुकी ने बताया, ‘स्टडी के दौरान हमने पाया कि कुछ पतले लोगों को खाने की इच्छा कम होती है, ऐसा उनकी जींस की वजह से होता है. लेकिन कुछ लोगों ने हमें बताया कि वे बहुत ज्यादा खाते हैं, लेकिन फिर भी उनका वजन बढ़ता नहीं है. इससे ये साफ पता चलता है कि कुछ लोगों में ऐसे जींस मौजूद होते हैं, जो अधिक खाने के बाद भी वजन को बढ़ने नहीं देती.’

शोधकर्ताओं के मुताबिक, पतले और हेल्दी लोग इसलिए पतले रहते हैं, क्योंकि उनमें वजन बढ़ाने वाली जींस कम होते हैं. बता दें, पतले लोगों की जींस पर की गई सबसे बड़ी स्टडी में शोधकर्ताओं ने ब्रिटिश के ऐसे लोगों को शामिल किया, जो पतले होने के साथ हेल्दी भी थे.

स्टडी के लिए शोधकर्ताओं ने 1,622 पतले लोगों के सलाइवा का सैंपल लिया. इसके बाद करीब 10,000 सामान्य वजन वाले और लगभग 2,000 मोटे लोगों के जींस से तुलना कर के देखा. नतीजों में पलतेपन का संबंध जींस से पाया गया.

यह स्टडी PLOS जेनेटिक जर्नल में प्रकाशित की गई है. इस स्टडी में बताया गया है कि 18 फीसदी पतलापन हमारे DNA के कारण होता है. शोधकर्ताओं ने बताया कि व्यक्ति के पतले या मोटे होने में DNA की अहम भूमिका होती है.

LEAVE A REPLY