मनीष तिवारी ने पीएमओ को टैग करते हुए लिखा, पीएमओ इंडिया के पास एक दिलचस्प कार्यप्रणाली है जब विफलता के लिए जिम्मेदारी लेनी होती है, जैसे कोरोना की दूसरी लहर में लापरवाही की तो लापता हो जाते हैं. वहीं, जब क्रेडिट लेने की बात होती है तो लाइन में सबसे आगे खड़े हो जाते हैं.

नई दिल्ली,देश में 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार हो गया है. कांग्रेस ने 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर सरकार के जश्न मनाने पर सवाल उठाया है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाए हैं. मनीष तिवारी ने कहा, पीएमओ के पास दिलचस्प कार्यप्रणाली है, जब विफलता की जिम्मेदारी लेनी होती है तो लापता हो जाते हैं. जब क्रेडिट की बात होती है तो सबसे पहले आ जाते हैं.

मनीष तिवारी ने पीएमओ को टैग करते हुए लिखा, पीएमओ इंडिया के पास एक दिलचस्प कार्यप्रणाली है जब विफलता के लिए जिम्मेदारी लेनी होती है, जैसे कोरोना की दूसरी लहर में लापरवाही की तो लापता हो जाते हैं. वहीं, जब क्रेडिट लेने की बात होती है, तो लाइन में सबसे आगे खड़े हो जाते हैं.

शशि थरूर ने सरकार को दिया था श्रेय

इससे पहले तिरुवनंतपुरम से लोकसभा सांसद और कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा था कि यह सभी भारतीयों के लिए गर्व का क्षण है. इसके लिए सरकार को क्रेडिट देना चाहिए.

उन्होंने आगे लिखा, दूसरी कोरोना लहर के गंभीर कुप्रबंधन और टीकाकरण की विफलता के बाद सरकार ने अब आंशिक रूप से खुद को सुधारा है. सरकार अपनी पिछली विफलताओं के लिए अब भी जवाबदेह है.

पवन खेड़ा को पसंद नहीं आई शशि थरूर की बात
शशि थरूर की ओर से मोदी सरकार की तारीफ उनकी ही पार्टी के एक अन्य नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन खेड़ा को पसंद नहीं आई. थरूर के ट्वीट पर ही जवाब देते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार को श्रेय देना उन लाखों परिवारों का अपमान है जो व्यापक तौर पर कोविड कुप्रबंधन के बाद के प्रभावों और दुष्प्रभावों से पीड़ित हैं और अभी भी पीड़ित हैं. क्रेडिट मांगने से पहले प्रधानमंत्री को उन परिवारों से माफी मांगनी चाहिए. यह श्रेय वैज्ञानिकों और चिकित्सा बिरादरी को जाता है.

LEAVE A REPLY