राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अयोग्य ठहराए जाने को लेकर जारी किए गए नोटिस के मामले में सचिन पायलट के धड़े की ओर से हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है.

बीजेपी की सहयोगी पार्टी राष्ट्रीय लोकत्रांतिक पार्टी (आरएलपी) के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर आरोप लगाया है कि वह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मदद कर रही हैं.

राजस्थान हाई कोर्ट की दो न्यायाधीशों की पीठ कांग्रेस के बागी विधायकों द्वारा दाखिल संशोधित याचिका पर आज शाम साढ़े सात बजे सुनवाई करेगी.

राजस्थान उच्च न्यायालय ने सचिन पायलट खेमे को नयी याचिका दायर करने के लिये समय दिया, मामले की सुनवाई अब खंडपीठ द्वारा की जाएगी.

बागी विधायकों की तरफ से कोर्ट में पेश हुए वकील हरीश साल्वे ने कहा कि असंतुष्ट विधायक राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष द्वारा जारी अयोग्यता नोटिस की संवैधानिक वैधता को चुनौती देना चाहते हैं. साल्वे ने कहा कि याचिकाकर्ता संविधान की दसवीं अनुसूची में निहित दल-बदल विरोधी कानून को चुनौती देंगे.

बागी विधायकों की याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई टल गई है. याचिकाकर्ताओं की तरफ से याचिका में सुधार के लिए और वक्त मांगा गया है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अगर वह बीजेपी में नहीं जा रहे हैं तो फिर लगता है कि हरियाणा के मानेसर के एक होटल में बागी कांग्रेसी विधायक छुट्टियां मना रहे हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘पायलट का कहना है कि मैं बीजेपी में शामिल नहीं हो रहा हूं और उनकी छवि खराब करने के लिए अफवाहें फैलाई जा रही हैं. मुझे लगता है कि हरियाणा के मानेसर के एक होटल में बागी कांग्रेसी विधायक बीजेपी की निगरानी में छुट्टियां मना रहे हैं.’’

विधानसभा अध्यक्ष द्वारा पायलट सहित कांग्रेस के 19 विधायकों को भेजे गए इस नोटिस पर जस्टिस सतीश चन्द्र शर्मा की अदालत में सुनवाई होगी.

राजस्थान विधानसभा सचिवालय ने कांग्रेस विधायक दल की हालिया बैठकों में शामिल नहीं होने वाले 19 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने के नोटिस जारी किए हैं. कांग्रेस के मुख्य सचेतक डा. महेश जोशी की ओर से की गई शिकायत के आधाार पर बागी विधायकों को नोटिस जारी किया गया. सचिन पायलट और उनके समर्थक माने जा रहे 19 विधायक सोमवार और मंगलवार को यहां हुई विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हुए. नोटिस को पायलट गुट ने चुनौती दी है.

राजस्थान हाईकोर्ट में सचिन पायलट गुट की तरफ से दायर याचिका पर तीन बजे सुनवाई शुरू होगी. विधानसभा अध्यक्ष की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी अदालत में पेश होंगे.

बैकग्राउंड

राजस्थान में कांग्रेस की लड़ाई अब कोर्ट के दरवाजे तक पहुंच गई है. विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अयोग्य ठहराए जाने को लेकर जारी किए गए नोटिस के मामले में सचिन पायलट के धड़े की ओर से राजस्थान हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है. इस याचिका पर अब से कुछ देर बाद सुनवाई होगी. पायलट खेमे के विधायक पृथ्वीराज मीणा की तरफ से हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी दलील रखेंगे. वहीं विधानसभा अध्यक्ष की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी पेश होंगे.
बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस ने सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री पद से हटा दिया था. साथ ही उनके खेमे के दो मंत्री को भी पद से हटा दिया गया था.

LEAVE A REPLY